GST Rate in Hindi, जीएसटी दर (सभी आइटम) 2017, GST Rates in India in Hindi

77

GST Rate in Hindi 2017, जी.एस.टी. एवं कर की दर, GST Rates in India in Hindi. Check GST Rates India from Below. GST Rate on Gold, New GST Rates in India in Hindi, GST & Petroleum Products, GST and Consumers. Recently Govt Finalised GST Rates in India. Hi Friends In this article we provide complete analysis of GST Rate in Hindi. Check GST Standard GST Rate, Highest Rate of GST, Lowest Rate of GST, Check GST Rates Slab. On 3rd Nov 2016 Govt Finalised GST Rates in India and Here we provide complete information for GST Rate in Hindi, We already provided Complete information regarding”GST Rate in India, GST Rates in India, Worldwide GST Rates 2017 in English” Now scroll down below n check more details for “GST Rate in Hindi, जी.एस.टी. एवं कर की दर, GST Rates in India in Hindi”.

GST Rates: 177 चीजें सस्ती होंगी, सिर्फ 50 लग्जरी आइटम्स पर लगेगा 28% टैक्स

GST Rates Reduced on 10-11-2017:

  • जीएसटी काउंसिल ने बड़ी राहत देते हुए 211 आइटम्स पर टैक्स स्लैब में कमी कर दी। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि 178 आइटम्स को 28 फीसदी से 18 फीसदी के टैक्स ब्रैकेट में लाया गया। इस प्रकार अब 28 फीसदी के स्लैब में सिर्फ 50 आइटम रह गए हैं। इसके अलावा कई अन्य आइटम्स के लिए टैक्स रेट में कमी कर दी गई। इसके अलावा अब हर तरह के रेस्टोरेंट्स के लिए टैक्स स्लैब 5 फीसदी कर दिया गया, जिससे अब घर से बाहर खाना सस्ता हो जाएगा।

13 आइटम्स 18 फीसदी से 12 फीसदी के स्लैब में आए…

  • वित्त मंत्री अरुण जेटली ने एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान काउंसिल की मीटिंग का ब्योरा दिया। उन्होंने कहा कि 2 आइटम्स 28 फीसदी के स्लैब से 12 फीसदी के स्लैब में लाए गए।
  • 178 आइटम्स पर जीएसटी दर घटाई गई है। 13 आइटम्स पर जीएसटी 18 फीसदी से 12 फीसदी किया गया।
  • रेस्टोरेंट्स को अब इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) का बेनिफिट नहीं मिलेगा। अब एसी, नॉन एसी रेस्टोरेंट्स के लिए जीएसटी रेट 5 फीसदी रहेगा।
  • वहीं 7500 रुपए से ज्यादा रेंट वाले होटलों पर आईटीसी सहित 18 फीसदी टैक्स लगेगा।
  • 6 आइटम्स को 5 फीसदी से 0 फीसदी के स्लैब में लाया गया।
  • 15 नवंबर से लागू होंगे नए जीएसटी रेट।

रेस्टोरेंट्स में खाना होगा सस्ता

  • जेटली ने कहा कि अब रेस्टोरेंट्स को इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) का बेनिफिट नहीं मिलेगा। इसके साथ ही अब एसी, नॉन एसी सभी रेस्टोरेंट्स के लिए जीएसटी रेट 5 फीसदी कर दिया है। इससे साफ है कि अब रेस्टोरेंट्स में खाना सस्ता हो जाएगा।
  • वहीं स्टार कैटेगरी के होटलों पर आईटीसी के साथ 18 फीसदी जीएसटी लगेगा। वहीं इससे लोअर कैटेगरी के होटलों पर आईटीसी के बिना 5 फीसदी टैक्स लगेगा।

कंपोजिशन स्कीम वालों को राहत

  • जीएसटी काउंसिल ने कंपोजीशन स्‍कीम के तहत कारोबार करने वाले लोगों को राहत दी है। अब 1 फीसदी का टैक्‍स केवल टैक्‍सेवल आइटम पर ही लगाया जाएगा, हालांकि कारोबार की गणना के लिए कुल कारोबार को शामिल किया जाएगा।
  • इसके अलावा जीएसटीआर 4 भरने से भी राहत दी गई है। काउंसिल ने जीएसटीआर 2 की समीक्षा के लिए एक कमेटी का गठन किया गया है।
  • 1.5 करोड़ रुपए तक के टर्नओवर वाले कारोबारी जीएसटीआर – 1 तिमाही आधार पर रिटर्न  फाइल कर सकते हैं।

GST – पेंट, सीमेंट, वाशिंग मशीन रहेंगे 28 फीसदी स्लैब में

  • इससे पहले जीओएम के हेड सुशील मोदी ने कहा कि पेंट और सीमेंट 28 फीसदी के ब्रैकट में रहेंगे। इसके अलावा वाशिंग मशीन और एयर कंडीशनर्स जैसे लग्जरी गुड्स को भी 28 फीसदी के ब्रैकट में रखा गया है।
  • “इस बात को लेकर सहमति बनी कि धीरे-धीरे 28 फीसदी के स्लैब को 18 फीसदी के स्लैब पर लाया जाना चाहिए। लेकिन इसमें वक्त लगेगा, क्योंकि इसका रेवेन्यू पर खासा असर पड़ेगा।”

ट्रेडर्स और कंज्यूमर्स को राहत देना मकसद

काउंसिल की मीटिंग में हुए फैसले मुताबिक, चॉकलेट, शैम्‍पू, च्युइंगम, डिओड्रेंट, शू पॉलिश, मार्बल, कॉस्‍मेटिक, न्‍यूट्रिशन ड्रिंक्‍स और प्लाईवुड जैसे कई प्रोडक्ट अब 18% के स्लैब में आएंगे। ये प्रोडक्‍ट पहले जीएसटी के 28% के स्‍लैब में थे। जीएसटी की टेक्नॉलजी संबंधित गतिविधियों को मॉनिटर करने के लिए बनाए गए ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स के अध्‍यक्ष सुशील कुमार मोदी ने इस बारे में जानकारी दी। मोदी ने कहा कि हर घर में आम तौर पर इस्तेमाल होने वाले सामानों जैसे सैनेटरी, सूटकेस, वॉलपेपर्स, प्लाईवुड, स्टेशनरी आर्टिकल, घड़ी, प्लेइंग इंस्ट्रूमेंट्स आदि प्रोडक्ट पर छूट का एलान किया जा सकता है। इन सामानों पर टैक्स में छूट का मकसद छोटे व्यापारियों और कन्ज्यूमर्स को राहत देना है।

सिर्फ 50 आइटमों पर ही 28% टैक्‍स

– सुशील मोदी ने बताया कि पहले 62 आइटमों को सबसे ऊंची टैक्स स्लैब में रखा जाना था, लेकिन मीटिंग में चर्चा के बाद कुछ और आइटम उस कैटिगरी से कम किए गए। अब सिर्फ 50 आइटमों पर ही 28% टैक्स लगेगा। उन्होंने बताया कि आफ्टर शेव, डिओड्रेंट, वॉशिंग पाउडर, ग्रेनाइट और मार्बल जैसे आइटमों पर अब 18% टैक्स लगेगा।

आइटम्‍स मौजूदा टैक्‍स स्‍लैब (%में ) नया टैक्‍स स्‍लैब  (% में )
शेविंग क्रीम 28 18
चॉकलेट 28 18
च्‍यूइंगम 28 18
सैनिटरी आइटम्‍स 28 18
शैम्‍पू 28 18
वॉशिंग पाउडर 28 18
पेस्‍ट 28 18
घड़ी 28 18
प्‍लाइबोर्ड 28 18
मार्बल, ग्रेनाइट 28 18
प्‍लास्‍टर 28 18
खाजा 18 5
टाइल्‍स 28 18
पास्‍ता 18 12
कॉटन 18 12
जूट हैंड बैग 18 12
फ्लाई ऐश 18 5
अनारसा 18 5
हेयरडाइ क्रीम 28 18
आफ्टर शेव 28 18
डिटर्जेंट 28 18
मेकअप आइटम 28 18
इंस्‍टेंट कॉफी 28 18
शू पॉलिश 28 18
लेदर क्‍लॉदिंग 28 18
आर्टिफिशियल फर 28 18
कुकर 28 18
स्‍टोव 28 18
स्‍टोरेज वाटर हीटर 28 18
बैटरी और चश्‍मा 28 18
गद्दे 28 18
डेंटल हाइजीन प्रोडक्‍ट्स 28 18
वायर और केबल 28 18
फर्नीचर 28 18
ट्रंक और सूटकेस 28 18
फैन 28 18
रबर ट्यूब 28 18
लैंप 28 18
माइक्रोस्‍कोप 28 18

Please Check Following Articles for more details and Item GST Rates List changed on 10-11-2017

GST Rate in Hindi, जी.एस.टी. एवं कर की दर

GST Rates Changed on 06-10-2017: जीएसटी लागू होने के बाद से लगातार आलोचना का शिकार हो रही केंद्र सरकार ने लोगों को दिवाली गिफ्ट दिया है। दरअसल, शुक्रवार को सरकार ने कई घरेलू आइटम्‍स के जीएसटी रेट घटा दिए हैं। इन आइटम्‍स में बच्‍चों के पैकेज्‍ड फूड और स्‍टेशनरी समेत खाखड़ा और  स्लाइ्स ड्राइड मैंगो भी शामिल हैं।  टैक्‍स रेट कम होने के बाद प्रोडक्‍ट की कीमत भी सस्‍ती हो जाएगी। तो आइए, हम बताते हैं कौन – कौन से हैं वो प्रोडक्‍ट ।

कई आइटम्‍स के घटे जीएसटी रेट 

जीएसटी काउंसिल ने कई गुड्स और सर्विसेज पर टैक्स घटा दिया है। गुड्स प्रोडक्‍ट में स्लाइ्स ड्राइड मैंगो और फेवरेट डिश खाखड़ा शामिल है । इसके अलावा बच्चों के पैकेज्ड फूड और अनब्रैंडेड नमकीन पर से भी टैक्‍स कम कर लिया गया है। जबकि ई – वेस्‍ट, जॉब वर्कस के भी टैक्‍स स्‍लैब में  कटौती की गई है।

प्रोडक्‍ट टैक्‍स स्‍लैब पहले (% में ) टैक्‍स स्‍लैब अब (% में)
स्लाइ्स ड्राइड मैंगो 12 5
खाखड़ा 12 5
प्लेन चपाती 12 5
बच्चों के पैकेज्ड फूड 12 5
अनब्रांडेड नमकीन 12 5
अनब्रांडेड आयुर्वेदिक दवाओं 12 5
पंप पार्ट्स 28 18
रबड़ वेस्‍ट 18 5
पेपर वेस्ट 12 5
स्टोन (मार्बल, ग्रेनाइट छोड़कर  ) 28 18
स्‍टेशनरी आइटम्‍स 28 18
डीजल इंजन के पार्ट 28 18
ई-वेस्‍ट 28 5
जॉब वर्क्‍स(जरी / इमिटेशन /फूड आइटम्‍स / प्रिंटिंग आइटम्‍स ) 12 5
लेबर ( सरकारी कॉन्‍ट्रैक्‍ट ) 12 5

GST Council Meeting Updates in Hindi Held on 30-06-2017

In GST Council meeting, the GST that was applied on the fertilizer was reduced from 12% to 5%. (जीएसटी काउंसिल की मीटिंग में फर्टिलाइजर पर लगने वाले जीएसटी को 12% से घटाकर 5% किया गया।)

देश में हर साल करीब 22.4 करोड़ टन खाद्यान्‍न का प्रोडक्शन होता है। खाद्यान्‍न और अन्‍य फसलें उगाने के लिए देश में हर साल किसान करीब 550 लाख टन फर्टिलाइजर्स का इस्‍तेमाल करते हैं। अभी तक फर्टिलाइजर्स 0 से 8% के टैक्‍स स्‍लैब में थे, लेकिन जीएसटी के बाद ये 12% के स्‍लैब में रखे गए थे। अगर 12% टैक्स रहता तो एक यूरिया बैग (50 kg) की कीमतों में 35 रुपए तक की बढ़ोतरी होती। फिलहाल जीएसटी काउंसिल ने किसानों को बड़ी राहत दी है।

ट्रैक्टर के कल-पुर्जों पर अब 18% टैक्स

  • जीएसटी काउंसिल ने ट्रैक्टर के कल-पुर्जों पर भी टैक्स 28% से घटाकर 18% कर दिया है। ट्रैक्‍टर निर्माण के लिए जरूरी कंपोनेंट्स पर पहले 5 से 17% तक टैक्स लगता था, जिसे शुरू में जीएसटी काउंसिल ने 18 से 28% कर दिया था। इस पर किसानों की चिंता थी कि उन्हें ट्रैक्टर खरीदने पर ज्यादा कीमत चुकानी होगी। अब जीएसटी काउंसिल ने ट्रैक्टर के कल-पुर्जों पर जीएसटी के तहत 18% टैक्स फाइनल किया है।
  • बता दें कि भारत में हर साल करीब 6.5 लाख ट्रैक्‍टर की बिक्री होती है। इनमें सबसे ज्‍यादा बिक्री काम्‍पैक्‍ट ट्रैक्‍टर (14 से 42 एचपी) की होती है, जिनकी कीमत करीब 2.5 लाख रुपए से लेकर 5.5 लाख रुपए के बीच है।

GST Updates in Hindi 18th June 2017 (18-06-2017)

जीएसटी काउंसिल की 17वीं मीटिंग में सरकारी और प्राइवेट लॉटरी पर अलग-अलग टैक्स रेट तय किए गए हैं। स्टेट रन लॉटरी पर जीएसटी के तहत 18% टैक्स और गवर्नमेंट ऑथराइज्ड प्राइवेट लॉटरी पर 28% टैक्स रेट तय किया गया है। इसके अलावा महंगे होटल रूम्स पर भी 28% टैक्स लगेगा। अरुण जेटली ने कहा कि ई-वे बिल पर तैयारी के लिए 4-5 महीने लग जाएंगे। जीएसटी काउंसिल की अगली मीटिंग 30 जून को रखी गई है। रिटर्न भरने के लिए 2 महीनों की राहत…

  • मीटिंग में मुनाफाखोरी रोकने के लिए एंटी प्रॉफिटियरिंग नियमों को मंजूरी दे दी गई।
  • जीएसटी काउंसिल ने हर माह रिटर्न फाइल करने में फिलहाल दो महीने की छूट दी है। अभी जुलाई और अगस्‍त में रिटर्न फाइल करने की जरूरत नहीं होगी। सितम्‍बर से हर माह रिटर्न फाइल करना जरूरी होगा।

सस्ते होटल रूम पर 18% टैक्स

  • 7500 रुपए से ज्यादा महंगे होटल कमरों पर 28% टैक्स लगेगा।, जबकि 2500 रुपए से 7500 रुपए तक की रेंज में आने वाले होटल के कमरों पर 18 फीसदी टैक्स रखा गया है। शिपिंग पर इनपुट क्रेडिट के साथ 5% आईजीएसटी वसूला जाएगा। निगेटिव लिस्‍ट ऑफ कंपोजिट में 3 प्रोडक्‍ट्स रखे गए हैं। इसमें आइसक्रीम, पान मसाला और टोबैको शामिल है।

GST Latest Updates in Hindi 11th June 2017

GST काउंसिल ने 66 प्रोडक्‍ट्स पर रेट घटाए, इंसुलिन, फूड आइटम्‍स होगा सस्‍ता (11-06-2017)

जीएसटी काउंसिल की रविवार को हुई बैठक में 66 प्रोडक्‍ट्स के रेट घटा दिए हैं। फाइनेंस मिनिस्‍टर अरुण जेटली ने काउंसिल की मीटिंग के बाद प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर बताया कि 133 सामानों के जीएसटी रेट्स पर रिव्‍यू करने का प्रस्‍ताव मिला था। इसमें से 66 सामानों के रेट घटा दिए गए हैं। इसमें इंसुलिन पर टैक्‍स रेट 12 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी कर दिया गया है। टोमैटो कैचअप, पैक्‍ड फूड्स और मसाले समेत कई प्रोडक्‍टस के रेट कम कर दिए गए हैं। वहीं, 75 लाख तक के सालाना टर्नओवर वाले कारोबारियों को जीएसटी के दायरे से छूट दी गई है। पहले यह सीमा 50 लाख रुपए सालाना टर्नओवर तक थी।

  • फाइनेंस मिनिस्‍ट अरुण जेटली ने बताया कि काउंसिल ने आज कई सामानों पर टैक्‍स रेट कम करने का फैसला किया है। इससे आम आदमी के लिए कई सामान सस्‍ते हो जाएंगे। लेकिन, इसका सरकार के रेवेन्‍यू पर असर होगा।
  • जेटली ने बताया, ‘‘जीएसटी काउंसिल ने कंपोजिशन की लिमिट 75 लाख कर दी गई है। यानी, 50 लाख की बजाय अब 75 लाख के टर्नओवर वाला बिजनेस जीएसटी के दायरे से बाहर हो जाएगा। इसके तीन तरह के कारोबारियों को फायदा होगा।’’
  •  उन्‍होंने कहा, ‘‘ट्रेडर एक फीसदी टैक्‍स देगा। वहीं, मैन्‍युफैक्‍चरर पर 2 फीसदी और होटल कारोबारियों पर 5 फीसदी टैक्‍स देकर जीएसटी के दायरे से बाहर रह सकते हैं।’’ 

इन चीजों पर टैक्‍स घटा-  

  • इंसुलिन पर 12% से घटाकर 5%
  • स्‍कूल बैग्‍स पर 28% से घटाकर 18%
  • एक्‍सरसाइज बुक्‍स पर 18% से घटाकर 12%
  • कंप्‍यूटर प्रिंटर 28% से घटाकर 18%
  • अगरबत्‍ती पर 12% से घटाकर 5%
  • काजू पर 12% घटाकर 5%
  •  डेंटल वैक्‍स पर 28% से घटाकर 8%
  • प्‍लास्टिक बेडस्‍ पर 28% से घटाकर 18%
  • प्‍लास्टिक टर्पोलिन पर 28% से घटाकर 18%
  • कलरिंग बुक्‍स पर 12% से घटकर 0
  • प्री-कॉस्‍ट कंक्रीट पाइप्‍स पर 28% से घटाकर 18%
  • कल्‍टरी पर 18% से घटकर 12%
  • ट्रैक्‍टर कंपोनेंट्स पर 28% से घटाकर 18%

फाइनेंस मिनिस्‍टर अरुण जेटली ने बताया कि सिनेमा पर जीएसटी रेट को दो कैटेगरी में रखा गया है। नए रेट्स के अनुसार, 100 रुपए से ज्‍यादा के मूवी टिकट पर 28 फीसदी और 100 रुपए तक के टिकट पर 18 फीसदी टैक्‍स लगेगा।

 जेटली ने कहा, ‘‘अभी इंटरटेनमेंट टैक्‍स अलग-अलग राज्‍य अपना-अपना वसूलते हैं। जिनके रेट अलग-अलग हैं, जो 28 से 110 फीसदी के बीच है। पूरे देश में एवरेट इंटरनेटमेंट टैक्‍स करीब 30 फीसदी है।’’

GST Rates in Hindi as Discussed on 03-06-2017 (3rd June 2017)

जीएसटी काउंसिल ने शनिवार को गोल्ड, बिस्किट, बीड़ी, टेक्सटाइल्स, फुटवियर और एग्रीकल्चर मशीन पर टैक्स स्लैब तय कर दिए। मीटिंग के बाद अरुण जेटली ने बताया कि गोल्ड पर 3% टैक्स लगेगा। आज जिन चीजों के रेट तय किए गए, उनमें बीड़ी पर सबसे ज्यादा 28% टैक्स रखा गया है। इसके अलावा 500 रुपए से कम के फुटवियर पर 5% टैक्स लगेगा। सभी राज्य 1 जुलाई से जीएसटी लागू करने पर राजी हो गए हैं। जीएसटी काउंसिल की पिछली मीटिंग भी श्रीनगर में ही हुई थी। उसमें 1200 से ज्‍यादा गुड्स और 500 से ज्यादा सर्विसेज पर टैक्‍स रेट तय हुआ था। जानिए किस पर, कितना टैक्स..

Highlights

  • इस पर अभी 2% से 2.5% टैक्स लगता है। जीएसटी के तहत गोल्ड पर 3% टैक्स लगाया जाएगा।
  • टेक्सटाइल्स – कॉटन फैब्रिक/यार्न:जीएसटी के तहत 5% टैक्स लगाया जाएगा। अभी इस पर 0% टैक्स लगता है।
  • रेडीमेड गारमेंट: इस पर 12% टैक्स लगाया जाएगा। लेकिन, 1000 रुपए से कम के गारमेंट पर 5% जीएसटी लगाया जाएगा।

1) गोल्ड

  • अभी कितना टैक्स:अभी 10% कस्टम ड्यूटी। मैन्युफैक्चरिंग पर 1% एक्साइज। बिक्री पर 1% वैट लगता है। केरल में वैट 5% है। रफ डायमंड पर 0.25% टैक्स लगेगा।
  • जीएसटी के बाद:3% टैक्स।

2) टेक्सटाइल

  • अभी कितना टैक्स: कॉटन फाइबर और फैब्रिक पर 0% तो सिंथेटिक पर 12.5% एक्साइज है। 1,000 रु. से कम के कपड़े पर एक्साइज नहीं लगता। इससे ज्यादा पर 12.5% एक्साइज और 5% वैट है। ब्रांडेड कपड़े पर सेनवैट के साथ 12.5% टैक्स है। कॉटन पर यह 6% है।
  • जीएसटी के बाद: सिल्क और जूट पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। कॉटन और नेचुरल फाइबर पर 5% टैक्स लगेगा। 1000 रुपए से कम के गारमेंट पर 5% और रेडीमेड गारमेंट पर 12% टैक्स लगेगा। मैनमेड यार्न और फैब्रिक पर 18% टैक्स लगेगा।

3) बिस्किट

  • अभी कितना टैक्स: 100 रुपए/किलो से कम दाम वाले बिस्किट पर एक्साइज नहीं लगता, वैट 4.5% से 14.5% तक है। ज्यादा कीमत वाले बिस्किट पर 6% एक्साइज, वैट 6-14.5% तक है। ओवरऑल ये 12% से 20.5% तक रहता है।
  • जीएसटी के बाद: सभी तरह के बिस्किट पर 18% टैक्स।

4) बीड़ी-तेंदूपत्ता

  • अभी कितना टैक्स: अभी इस पर 20% टैक्स लगता है।
  • जीएसटी के बाद: बीड़ी के पत्ते पर 18% टैक्स। बीड़ी पर 28% टैक्स लगेगा, लेकिन कोई सेस नहीं लगेगा।

5) फुटवियर

  • अभी कितना टैक्स:फिलहाल 500 से 1000 रुपए तक की कीमत वाले फुटवियर पर 6% टैक्स लगता है। इसके अलावा राज्य वैट भी लगाते हैं।
  • जीएसटी के बाद:500 रुपए तक 5% टैक्स लगेगा। 500 रुपए से ज्यादा कीमत वाले फुटवियर पर 18% होगा।

6) एग्रीकल्चर मशीनें

  • एग्रीकल्चर मशीनों पर 5% जीएसटी लगाया जाएगा।
  • इसके अलावा सोलर पैनल पर 5% टैक्स लगेगा। इसके अलावा पैकेज्ड फूड आइटम पर 5% टैक्स तय किया गया है।

काउंसिल ने शनिवार को ट्रांजिशन प्रोविजंस और रिटर्न सहित बाकी नियमों को मंजूरी दे दी है। जेटली ने बताया कि सभी राज्य 1 जुलाई से जीएसटी लागू करने को राजी हो गए हैं। उन्होंने कहा कि जीएसटी काउंसिल की अगली मीटिंग 11 जून को होगी।

Keep visit to our site for more latest updates…..

GST Rates 0n Services in Hindi

0% GST Rate Services – नॉन-एसी ट्रेन टिकट, मेट्रो, बस, ऑटो, शिक्षा, स्वास्थ्य, धार्मिक और चैरिटेबल सेवाएं, टोल, बिजली, रिहायशी घर का किराया, पीएफआरडीए, ईपीएफओ और ईएसआईसी की सेवाएं, म्यूजियम, नेशनल पार्क में एंट्री, जनधन और अटल पेंशन जैसी सरकारी योजनाएं, 1,000 रुपए तक किराये वाले होटल, दूध, नमक, आटा, दाल, चावल जैसी चीजों की ढुलाई।

5% GST Rate Services – ट्रेन या ट्रक से माल ढुलाई, एसी ट्रेन टिकट, कैब सेवा, विमान का इकोनॉमी क्लास का टिकट, टूर ऑपरेटर सर्विसेज, विमान की लीजिंग, प्रिंट मीडिया में एडवर्टाइजिंग।

12% GST Rate Services – रेलवे कंटेनर से सामान ढुलाई, विमान का बिजनेस क्लास का टिकट, नॉन-एसी रेस्तरां में खाना, रोजाना 1000-2500 रुपए किराये वाला होटल, कॉम्प्लेक्स या बिल्डिंग का कंस्ट्रक्शन, पेटेंट अधिकार का अस्थायी ट्रांसफर।

18% GST Rate Services – फोन बिल, बैंकिंग, बीमा और अन्य फाइनेंशियल सर्विसेज, एसी और शराब लाइसेंस वाले रेस्तरां, आउटडोर कैटरिंग में खाने की सप्लाई, रोजाना 2500-5000 रु. किराए वाले होटल, सर्कस, क्लासिकल और फोक डांस, थियेटर और ड्रामा के 250 रु. से ज्यादा के टिकट, वर्क्स कॉन्ट्रैक्ट की कंपोजिट सप्लाई।

28% GST Rate Services – सिनेमा टिकट,थीम पार्क, वाटर पार्क, मेरी-गो-राउंड, गोकार्टिंग, कैसिनो, रेसकोर्स, बैले, आईपीएल जैसे स्पोर्ट्स इवेंट, फाइव स्टार या इससे अधिक रेटिंग वाले होटल के रेस्तरां, रोजाना 5,000 रुपए से अधिक रूम रेंट वाले होटल, गैंबलिंग।

इन प्रोडक्ट्स पर 28% टैक्स के साथ सेस भी लगेंगे

  • पेट्रोल: 4 मीटर से कम लंबी, 1200 सीसी से कम इंजन, कैपेसिटी- 1%, सेस कुल टैक्स 29%।
  • डीजल: 4 मीटर से कम लंबी, 1500 सीसी से कम इंजन, कैपेसिटी- 3%, सेस कुल टैक्स 31%।
  • अन्य सभी कार और एसयूवी: 15% सेस, कुल टैक्स 43%।
  • मोटरसाइकिल 350 सीसी से ज्यादा कैपेसिटी वाली: 3% सेस, कुल टैक्स 31%।
  • प्राइवेट प्लेन और याट: 3% सेस, कुल टैक्स 31%।
  • कोल्ड ड्रिंक्स, लेमोनेड: 12% सेस, कुल टैक्स 40%।
  • बिना तंबाकू के पान मसाले: 60% सेस, कुल टैक्स 88%।
  • तंबाकू वाला गुटखा: 204% सेस. कुल टैक्स 232%।
  • अन्य तंबाकू प्रोडक्ट्स: 61-160% सेस, कुल टैक्स 89-188%

GST Rates on Goods in Hindi

0% GST Rates Items – गेहूं, चावल, दूसरे अनाज, आटा, मैदा, बेसन, चूड़ा, मूड़ी (मुरमुरे), खोई, ब्रेड, गुड़, दूध, दही, लस्सी, खुला पनीर, अंडे, मीट-मछली, शहद, ताजी फल-सब्जियां, प्रसाद, नमक, सेंधा/काला नमक, कुमकुम, बिंदी, सिंदूर, चूड़ियां, पान के पत्ते, गर्भनिरोधक, स्टांप पेपर, कोर्ट के कागजात, डाक विभाग के पोस्टकार्ड/लिफाफे, किताबें, स्लेट-पेंसिल, चॉक, समाचार पत्र-पत्रिकाएं, मैप, एटलस, ग्लोब, हैंडलूम, मिट्टी के बर्तन, खेती में इस्तेमाल होने वाले औजार, बीज, बिना ब्रांड के ऑर्गेनिक खाद, सभी तरह के गर्भनिरोधक, ब्लड, सुनने की मशीन।

5% GST Rates Items – ब्रांडेड अनाज, ब्रांडेड आटा, ब्रांडेड शहद, चीनी, चाय, कॉफी, मिठाइयां, खाद्य तेल, स्किम्ड मिल्क पाउडर, बच्चों के मिल्क फूड, रस्क, पिज्जा ब्रेड, टोस्ट ब्रेड, पेस्ट्री मिक्स, प्रोसेस्ड/फ्रोजन फल-सब्जियां, पैकिंग वाला पनीर, ड्राई फिश, न्यूजप्रिंट, ब्रोशर, लीफलेट, राशन का केरोसिन, रसोई गैस, झाडू, क्रीम, मसाले, जूस, साबूदाना, जड़ी-बूटी, लौंग, दालचीनी, जायफल, जीवन रक्षक दवाएं, स्टेंट, ब्लड वैक्सीन, हेपेटाइटिस डायग्नोसिस किट, ड्रग फॉर्मूलेशन, क्रच, व्हीलचेयर, ट्रायसाइकिल, लाइफबोट, हैंडपंप और उसके पार्ट्स, सोलर वाटर हीटर, रिन्यूएबल एनर्जी डिवाइस, ईंट, मिट्टी के टाइल्स, साइकिल-रिक्शा के टायर, कोयला, लिग्नाइट, कोक, कोल गैस, सभी ओर (अयस्क) और कंसेंट्रेट, राशन का केरोसिन, रसोई गैस।

12% GST Rates Items – नमकीन, भुजिया, बटर ऑयल, घी, मोबाइल फोन, ड्राई फ्रूट, फ्रूट और वेजिटेबल जूस, सोया मिल्क जूस और दूध युक्त ड्रिंक्स, प्रोसेस्ड/फ्रोजन मीट-मछली, अगरबत्ती, कैंडल, आयुर्वेदिक-यूनानी-सिद्धा-होम्यो दवाएं, गॉज, बैंडेज, प्लास्टर, ऑर्थोपेडिक उपकरण, टूथ पाउडर, सिलाई मशीन और इसकी सुई, बायो गैस, एक्सरसाइज बुक, क्राफ्ट पेपर, पेपर बॉक्स, बच्चों की ड्रॉइंग और कलर बुक, प्रिंटेड कार्ड, चश्मे का लेंस, पेंसिल शार्पनर, छुरी, कॉयर मैट्रेस, एलईडी लाइट, किचन और टॉयलेट के सेरेमिक आइटम, स्टील, तांबे और एल्यूमीनियम के बर्तन, इलेक्ट्रिक वाहन, साइकिल और पार्ट्स, खेल के सामान, खिलौने वाली साइकिल, कार और स्कूटर, आर्ट वर्क, मार्बल/ग्रेनाइट ब्लॉक, छाता, वाकिंग स्टिक, फ्लाईएश की ईंटें, कंघी, पेंसिल, क्रेयॉन।

18% GST Rates Items – हेयर ऑयल, साबुन, टूथपेस्ट, कॉर्न फ्लेक्स, पेस्ट्री, केक, जैम-जेली, आइसक्रीम, इंस्टैंट फूड, शुगर कन्फेक्शनरी, फूड मिक्स, सॉफ्ट ड्रिंक्स कंसेंट्रेट, डायबेटिक फूड, निकोटिन गम, मिनरल वॉटर, हेयर ऑयल, साबुन, टूथपेस्ट, कॉयर मैट्रेस, कॉटन पिलो, रजिस्टर, अकाउंट बुक, नोटबुक, इरेजर, फाउंटेन पेन, नैपकिन, टिश्यू पेपर, टॉयलेट पेपर, कैमरा, स्पीकर, प्लास्टिक प्रोडक्ट, हेलमेट, कैन, पाइप, शीट, कीटनाशक, रिफ्रैक्टरी सीमेंट, बायोडीजल, प्लास्टिक के ट्यूब, पाइप और घरेलू सामान, सेरेमिक-पोर्सिलेन-चाइना से बनी घरेलू चीजें, कांच की बोतल-जार-बर्तन, स्टील के ट-बार-एंगल-ट्यूब-पाइप-नट-बोल्ट, एलपीजी स्टोव, इलेक्ट्रिक मोटर और जेनरेटर, ऑप्टिकल फाइबर, चश्मे का फ्रेम, गॉगल्स, विकलांगों की कार।

28% GST Rates Items – कस्टर्ड पाउडर, इंस्टैंट कॉफी, चॉकलेट, परफ्यूम, शैंपू, ब्यूटी या मेकअप के सामान, डियोड्रेंट, हेयर डाइ/क्रीम, पाउडर, स्किन केयर प्रोडक्ट, सनस्क्रीन लोशन, मैनिक्योर/पैडीक्योर प्रोडक्ट, शेविंग क्रीम, रेजर, आफ्टरशेव, लिक्विड सोप, डिटरजेंट, एल्युमीनियम फ्वायल, टीवी, फ्रिज, वाशिंग मशीन, वैक्यूम क्लीनर, डिश वाशर, इलेक्ट्रिक हीटर, इलेक्ट्रिक हॉट प्लेट, प्रिंटर, फोटो कॉपी और फैक्स मशीन, लेदर प्रोडक्ट, विग, घड़ियां, वीडियो गेम कंसोल, सीमेंट, पेंट-वार्निश, पुट्टी, प्लाई बोर्ड, मार्बल/ग्रेनाइट (ब्लॉक नहीं), प्लास्टर, माइका, स्टील पाइप, टाइल्स और सेरामिक्स प्रोडक्ट, प्लास्टिक की फ्लोर कवरिंग और बाथ फिटिंग्स, कार-बस-ट्रक के ट्यूब-टायर, लैंप, लाइट फिटिंग्स, एल्युमिनियम के डोर-विंडो फ्रेम, इनसुलेटेड वायर-केबल।

GST Council Meeting Updates in Hindi

किन्हें कम टैक्स स्लैब में रखा गया?

रेलवे, एयर और ट्रांसपोर्ट को 5% के सबसे कम स्लैब में रखा गया है क्योंकि ये पेट्रोलियम इंडस्ट्री पर निर्भर हैं। पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स को GST से बाहर रखा गया है।

New Updates

  • सोना, सिगरेट, बीड़ी, टेक्सटाइल, फुटवियर और बायो डीजल जैसे 6 गुड्स एंड सर्विसेस के टैक्स रेट तय नहीं हो पाए हैं। इसके लिए 3 जून को दिल्ली में फिर मीटिंग होगी। नए टैक्स रेट 1 जुलाई से लागू हो जाएंगे।
  • AC रेल टिकट पर 5%, रेस्टोरेंट में 17% तक टैक्स
  • ट्रक ट्रांसपोर्ट पर अभी 70% अबेटमेंट है। यानी 30% हिस्से पर 15% टैक्स लगता है। यह बिल का 4.5% ही होता है। GST में 5% टैक्स कम रखा गया है, क्योंकि इसका मेन इनपुट पेट्रोल-डीजल जीएसटी से बाहर है। इसलिए इनपुट टैक्स क्रेडिट नहीं मिलेगा।
  • मेट्रो, लोकल ट्रेन, रिलिजियस और हज यात्राओं पर अभी टैक्स नहीं है। नॉन-एसी ट्रेन के टिकट पर भी कोई टैक्स नहीं लगता है। एसी ट्रेन टिकट पर टैक्स नहीं। GST में भी मेट्रो, लोकल ट्रेन, धार्मिक यात्राओं, नॉन-एसी ट्रेन के टिकट पर टैक्स नहीं होगा। एसी ट्रेन टिकट पर 5% टैक्स।

1# टेलिकॉम सर्विसेज पर टैक्स बढ़ा

टेलिकॉम सर्विसेज पर 12 फीसदी रेट तय किया गया। अभी इस पर सर्विस टैक्स 15 फीसदी है। इससे साफ है कि जीएसटी में टेलिकॉम सर्विसेज सस्ती हो जाएंगी।

2# 18% के टैक्स स्लैब में ब्रांडेड गारमेंट

केरल के वित्‍त मंत्री थॉमस इसाक के मुताबिक, “हेल्‍थकेयर और एजुकेशन सर्विसेज को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है। ब्रांडेड गारमेंट पर जीएसटी की दर 18 फीसदी तय की गई है।

3# फाइनेंशियल सर्विसेस पर 3% टैक्स बढ़ा

अभी तक बैंकिंग, इन्श्योरेंस समेत फाइनेंशियल सर्विसेज पर 15 फीसदी सर्विस टैक्स था। GST में टैक्स रेट 18 फीसदी होने से ये सर्विसेज महंगी हो जाएंगी।

5#सस्‍ते होटल जीएसटी के दायरे से बाहर

  • प्रति कमरा 1 हजार रुपए से कम किराये वाले होटलों को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है।
  • 1 हजार रुपए से 2500 रुपए के कमरे वाले होटलों पर 12 फीसदी टैक्स रेट लागू होगा।
  • 2500 रुपए से 5 हजार रुपए के कमरे वाले होटलों पर 18 फीसदी की दर से टैक्स रेट लगेगा।
  • वहीं 5 हजार रुपए से ज्‍यादा किराये वाले होटलों पर 24 फीसदी टैक्स रेट लगेगा।
  • फाइव स्‍टार होटलों पर 28 फीसदी रेट लागू होगा।
  • नॉन AC पर 12% और AC, लिकर लाइसेंस वालों पर 18 सर्विस टैक्स लगेगा।
  • 50 लाख या उससे कम सालाना टर्नओवर वाले छोटे रेस्टोरेंट्स की सर्विसेस पर 5% टैक्स लगेगा।

रेस्टोरेंट या होटल में खाना कितना महंगा?

फूड बिल के 40% हिस्से पर 15% टैक्स लगता है। पूरे बिल के हिसाब से जोड़ेंगे तो यह 6% होता है। अभी वैट पूरे बिल पर 5% लगता है। दोनों को जोड़कर खाने पर कुल टैक्स 11% लगता है। जीएसटी में इसे तीन हिस्सों में बांटा गया है।

  1. नॉन-एसी रेस्टोरेंट: फूड बिल पर 12% टैक्स लगेगा। यानी 1% ज्यादा।
  2. शराब लाइसेंस और एसी वाले रेस्टोरेंट: 18% टैक्स। यानी 7% ज्यादा।
  3. लग्जरी रेस्टोरेंट:28% टैक्स रेट लागू होगा। यानी 17% ज्यादा।

ऐप से कैब बुक कराने पर कितना टैक्स?

जीएसटी के तहत कैब एग्रीगेटर्स पर 5% की दर से टैक्स लिया जाएगा।

6#ट्रांसपोर्ट सर्विसेज पर

कुछ ट्रांसपोर्ट सर्विसेज के लिए टैक्स रेट 5 फीसदी तय की गई है।

7# सिनेमा हॉल पर 28 फीसदी टैक्स

जीएसटी के तहत सिनेमा हॉल पर 28 फीसदी सर्विस टैक्स लगेगा।

8# गैंबलिंग पर लगेगा 28 फीसदी टैक्स

गैंबलिंग, रेसकोर्स और बेटिंग को 28 फीसदी टैक्स के दायरे में रखा गया है।

GST Rate Details in Hindi

18-05-2017: श्रीनगर में शुरू हुई गुड्स एंड सर्विसेस टैक्‍स काउंसिल की मीटिंग में करीब 80 से 90 फीसदी आइटम्स पर जीएसटी की दरों पर रजामंदी बन गई है। इनमें से करीब 81 फीसदी आइटमों पर 18 फीसदी से कम जीएसटी की दर लागू होगी। अनाज और दूध को जीएसटी दायरे से बाहर रखा गया है।

एक जुलाई से जीएसटी लागू होने के बाद सबसे ज्यादा सेस 204% पान मसाला, गुटखा पर लिया जाएगा। इसके अलावा कोल्ड ड्रिंक्स पर 12% और बड़ी कारों पर 15% तक सेस लगेगा

Must – 

GST Rate List 2017 in Hindi on Goods

इस लिस्ट के मुताबिक 1 जुलाई से जीएसटी लागू होने के बाद अनाज सस्ते हो जाएंगे। काउंसिल ने इन पर टैक्स नहीं लगाने का फैसला किया है। अभी कुछ राज्य गेहूं और चावल पर वैट लगाते हैं। जीएसटी के बाद वैट खत्म हो जाएगा। दूध-दही पहले की तरह टैक्स के दायरे से बाहर रहेंगे। लेकिन मिठाई पर 5% टैक्स लगेगा। रोजाना इस्तेमाल होने वाली चीजें, जैसे हेयर ऑयल, साबुन, टूथपेस्ट भी सस्ते होंगे। इन पर सिर्फ 18% टैक्स लगेगा। यह अब तक एक्साइज और वैट मिलाकर 22 से 24% तक था। यानी ये चीजें 4 से 6% तक सस्ती हो सकती हैं। वैसे चीनी, चाय, कॉफी (इंस्टेंट नहीं) और खाद्य तेल पर 5% टैक्स रेट लागू होगा। इन पर मौजूदा रेट भी इसी के आसपास है। सॉफ्ट ड्रिंक्स और कारों पर 28% टैक्स रेट लागू होगा। कारों पर सेस भी लगेगा। एसी, फ्रिज भी 28% टैक्स दायरे में रखे गए हैं। जीवन रक्षक दवाएं 5% की श्रेणी में रखी गई हैं।

सबसे ज्यादा असर मेकअप के सामानों पर; 11% तक बढ़ेगा टैक्स, चीनी पर 13% तक टैक्स कम होगा

अनाज और उसके प्रोडक्ट

  • 00% गेहूं, चावल, दूसरे अनाज, आटा, मैदा, बेसन, चूड़ा, मूड़ी, खोई, ब्रेड (कुछ राज्य कुछ प्रोडक्ट पर वैट लगाते हैं। वहां सस्ते होंगे)
  • 05% रस्क, पिज्जा ब्रेड (इन पर अभी करीब 6% टैक्स है, ये 1% टैक्स कम होगा।)
  • 12% नमकीन भुजिया, मिक्सचर (एक्साइज 12.5%, वैट 5%, टैक्स 6% घटेगा।)
  • 18% पास्ता, नूडल्स, पेस्ट्री, केक, (एक्साइज 12.5%, वैट 5%, टैक्स 0.1% घटेगा।)

डेयरी प्रोडक्ट

  • 00% दूध, दही, लस्सी, पनीर (इन पर अब भी टैक्स नहीं लगता।)
  • 05% बच्चों के मिल्क फूड
  • 12% घी, चीज, बटर ऑयल (अभी 5% टैक्स है, 7% बढ़ जाएगा।)
  • 18% कंडेंस्ड मिल्क (अभी एक्साइज 12.5%, वैट 5%, टैक्स 0.1% घटेगा।)

फल-सब्जियां, इनके प्रोडक्ट

  • 00%कच्ची सब्जियां और फल (अब भी टैक्स नहीं लगता।)
  • 5%प्रोसेस्ड फल-सब्जियां (एक्साइज और वैट मिलाकर 11%, टैक्स 6.5% घटेगा।)
  • 12% फ्रूट-वेजिटेबल जूस, जूस और दूध युक्त ड्रिंक्स, (एक्साइज+वैट=11.5%, टैक्स 0.5% घटेगा।)
  • 18% जैम, जेली (एक्साइज और वैट मिलाकर 11.5%, टैक्स 6.5% बढ़ेगा।)
  • 05% चाय-कॉफी (अभी एक्साइज और वैट मिलाकर 18.1%, टैक्स 13.1% कम।)

चीनी-कन्फेक्शनरी

  • 05%चीनी, खांडसारी (अभी चीनी पर 18.1%- खांडसारी पर 6% टैक्स, दोनों सस्ते।)
  • 18% फ्लेवर्ड चीनी (अभी एक्साइज और वैट मिलाकर 18.1%, टैक्स 0.1% घटेगा।)
  • 28% च्यूइंग गम (अभी एक्साइज और वैट मिलाकर 17%, टैक्स 11% बढ़ेगा।)

कॉस्मेटिक्स

  • 00% कुमकुम, बिंदी, सिंदूर (इन पर अब भी टैक्स नहीं लगता।)
  • 12% अगरबत्ती (12.5% एक्साइज लगता है, यह सस्ता होगा।)
  • 18% हेयर ऑयल, साबुन, टूथपेस्ट (अभी एक्साइज+वैट 17%, टैक्स 1% बढ़ेगा।)
  • 28% मेकअप के सामान, सनस्क्रीन लोशन, शैम्पू, हेयर क्रीम, हेयर कलर/डाइ, शेविंग क्रीम, डिओड्रेंट (अभी एक्साइज और वैट मिलाकर 17%, टैक्स 11% बढ़ जाएगा।)

प्लास्टिक की चीजें

  • 18% किचन के सामान, केन, पाइप, शीट (अभी एक्साइज और वैट मिलाकर 18.1% है, टैक्स 0.1% कम होगा।)
  • 28% फ्लोर कवरिंग, बाथरूम के सामान (अभी 12.5% एक्साइज और 5% वैट, कुल 18.1%, टैक्स 9.9% बढ़ेगा।)
    (नोट : वैट, एक्साइज लगने के बाद जोड़ा जाता है।)

गुटखा,तंबाकू पर सबसे ज्यादा सेस

  • जीएसटी काउंसिल द्वारा तय किए गए सेस रेट का सबसे ज्यादा असर पान मसाला गुटखा, सिगरेट, तंबाकू पर पड़ेगा। इसके तहत पाना मसाला पर 60% सेस तो तंबाकू पर 71-204% तक लेवी लगेगी।
  • वहीं, खैनी, जर्दा पर 160% तक सेस लगाने का प्रपोजल है। इसी तरह फिल्टर-नॉन फिल्टर सिगरेट की विभिन्न कैटेगरी पर 5% सेस देना होगा। लिहाजा पान मसाला, गुटखा, तंबाकू, सिगरेट पर सेस लगने से उनके दाम में इजाफा हो सकता है।
  • नॉन फिल्टर सिगरेट (70 mm से ज्यादा न हो) पर 5% सेस के हिसाब से 2,876 रु. देना होगा। वहीं फिल्टर सिगरेट पर 5% लेवी के हिसाब से 2,126 रु. देने होंगे। प्रति हजार सिगार पर 21% या 4,170 में से जो ज्यादा हो, उतना लेवी लिया जाएगा।
  • ब्रांडेड गुटखे पर 72% सेस, वहीं पाइप में इस्तेमाल किए जाने वाले स्मोकिंग मिक्सचर पर 290% लेवी लिया जाएगा।
  • कोयले (पीट-लिग्नाइट) के हर टन पर 400 रुपए लेवी होगी।
किस कार पर कितना सेस?
कार सेगमेंट
लंबाई और सीसी
सेस (फीसदी)
छोटी (पेट्रोल)
4 मी से कम और 1200 सीसी से कम
1
छोटी (डीजल)
4 मी से कम और 1500 सीसी से कम
3
मिड सेगमेंट
1500 सीसी से कम
15
बड़ी कार
1500 सीसी से ज्यादा
15
एसयूवी
4 मी से कम और 1500 सीसी से कम
15
मिग सेगमेंट हाइब्रिड
1500 सीसी से कम
15
हाइब्रिड
1500 सीसी से कम
15
हाइड्रोजन व्हीकल
4 मीटर से कम
15
मोटरसाइकिल
1500 सीसी से कम
3
एयरक्रॉफ्ट (पर्सनल यूज)
3
याच
3

इन 5 देशों में जीएसटी लागू हुआ तो जीडीपी गिरी

ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, जापान, मलेशिया और सिंगापुर ने 1991 से 2000 के बीच जीएसटी लागू किया। 1994 में जब सिंगापुर ने जीएसटी लागू किया तो उस साल जीडीपी में बड़ी गिरावट दर्ज हुई। आईएमएफ के मुताबिक जीएसटी लागू होने से पहले सिंगापुर की जीडीपी 5.5% थी, जबकि जीएसटी लागू करने के बाद यह नेगेटिव में चली गई और -3% तक लुढ़क गई।

जी.एस.टी. एवं कर की दर

केंद्र और राज्य सरकार की जी.एस.टी. कौंसिल  के सदस्यों ने  कर की दरों के सम्बन्ध में एक बड़ा फैसला ले लिया है और उनके द्वारा 4 दरों की बात की कई है. यह दरें 5 प्रतिशत , 12 प्रतिशत , 18 प्रतिशत  एवं 28 प्रतिशत होंगी . इन दरों के दौरान करयोग्य वस्तुओं की सूची जारी नहीं की गई है इसलिए इस समय यह तो नहीं कहा जा सकता कि कौनसी वस्तु किस कर की दर के तहत आएगी और कौनसी वस्तु करमुक्त होगी.

खाद्यान सहित आवश्यक उपभोग की कई वस्तुओं को टैक्स फ्री रखा गया है. इस लिहाज से उपभोक्ता मूल्‍य सूचकांक में शामिल तमाम वस्तुओं में से करीब 50 प्रतिशत वस्तुओं पर कोई कर नहीं लगेगा. इन्हें शून्य कर की श्रेणी में रखा गया है.

सबसे निम्न दर आम उपभोग की वस्तुओं पर लागू होगी जो कि 5 प्रतिशत की दर होगी . शेष वस्तुओं पर या तो 12 प्रतिशत कर की दर होगी या फिर 18 प्रतिशत जिसे की “स्टैण्डर्ड रेट” कहा गया है जबकि सबसे ऊंची दर विलासिता और तंबाकू जैसी अहितकर वस्तुओं पर लागू होगी. ऊंची दर के साथ इन पर अतिरिक्त उपकर भी लगाया जायेगा.

सोने पर 4 प्रतिशत की दर लगाए जाने की संभावना है लेकिन आधिकारिक रूप से अभी इस सम्बन्ध में कुछ नहीं आया है .

करमुक्त वस्तुओं की सूची एवं हर कर की दर में समाहित वस्तुओं की सूचि की भी अभी प्रतीक्षा है .

Recommended Articles –

If you have any query regarding “GST Rate in Hindi, जी.एस.टी. एवं कर की दर, GST Rates in India in Hindi” then please tell us via below comment box…

77 COMMENTS

  1. i have a manufacturing firm of nut bolts. what is the Tax on iron wire road used in manufacturing for nut bolt. and what will b the tax rate on nut bolts

  2. Light fitting. Sanitary fitting G. I.. Upvc /cpvc pipes or fitting. Cement. Bajri. Mungia. Gity. Khanda/pathar.construction samandhi kahi koi vishes jankari ya gst tax k bare me nahi bataya h. Inke bare me details se batao to pata chale ki aam aadmi k liye kya fayda hua h ab makan Banana aasan hoga ki mehanga padega. Jisme bathroom tiles bhi samil Karna.

    • Light fitting. Sanitary fitting G. I.. Upvc /cpvc pipes or fitting. Cement. Bajri. Mungia. Gity. Khanda/pathar.construction samandhi kahi koi vishes jankari ya gst tax k bare me nahi bataya h. Inke bare me details se batao to pata chale ki aam aadmi k liye kya fayda hua h ab makan Banana aasan hoga ki mehanga padega. Jisme bathroom tiles bhi samil Karna.

  3. I am an A class electrical contractor & takes the turn key projects with material for 33 kv 11 kv & LT Electrical lines , transfomer sub station , D.G.Sets , HT / LT Cabling Electrical Panels M.S. Poles & M.S.Fabricated line fittings Sir what will be the rate of GST applicable on our business .

  4. GST ka Income tax par kya Effect Padega, Kya ab Income tax Increase ho jayega. ya fir Income tax pahle jaisa Rahega.

  5. मोदी लहर के बाद अब GST लहर।
    WOW क्या बात है! भारत को आगे बढ़ने से अब कोई रोक नहीं सकता।
    ग्रेट मोदी … ग्रेट इंडिया।

  6. Sir, gst aane pe waste material pr kitna tax lagega waste material means (old news paper,old books,plastic botle,loha,plastic etc
    “PLEASE SIR REPLLY FAST”

  7. SARE BYAPARI PORI TARAH SE BHRAMIT HAI KRAPYA KUCH BATAYE ( LUCKNOWI CHIKAN HANDICRAFT ) ONLY HANDWORK PE KOI TAX NAHI THA NA KOI RAJISTRETION THA AB KYA HOGA KOI JANKARI NAHI

  8. GST ke lagu hone se tax chori nahi hogi or taxpayer ko sirf 1 hi tax pay karna hoga .
    GST lagu hone ke bad hamara desh bhi un devlop deshon ki list me a jayega jaha pahle se hi GST lagu ho chuka he .
    agar GST hamare desh me pahale hi lagu ho jata to aaj ham bhi developed hote.
    Aaj ham indians ke pass mouka he jago indians jago.
    AAJ NAHI TO KABHI NAHI

  9. aanja rate kanak chawal narma kapas kahal binola chana sarso
    copper rod banch copper wire pvc compound rate list %

  10. madhya pradesh me khadhya padarth avam anya kisi v vastu k utpad me kmi nhi hai fir v anya rajyo k mukable kuch vastuen mahangi hai or sbse khas bat sarab jesi chijo pr bain lga diya jaye pure desh krodo parivar ek khusi bhri zndgi jiyenge lekin sarkar in pr sochti hai krti kuch nhi

  11. Betel Nut ,Supari, Areca Nut Betel Nut Cutting Machine, Roaster Machine, Garlic Peeling Machine,Dryer Machine, Electric Motor, flour mill, Atta Maker,Plz Send Me Answer all item GST rate slab.

  12. इलेक्ट्रिक स्विच लगाने के बोर्ड जो कि प्लाई लकडी की रिप एवं सनमाईका से। बनता हैं ।उस पर कितना जी एस टी लगेगा।

  13. मैं एक सर्विस प्रोवाईडर हू जो मेरा printer रिपेयरिंग & लेज़र टोनर cartridge refilling का है । मुझे कौन सा स्लैब में हू। kya छोटे business को भी gsttin लेनी होगी क्या।।।

  14. याेगेश कुमार पिपल अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका बयाना

    श्रीमानजी नगरपालिका बयाना जिला भरतपुर राज0 में होने वाले निर्माण कार्यो के बिलों पर कितना प्रतिशत जीएसटी लगेगा

  15. Mahila papad grih uodug by the MSME 2017 new componey hai abhi loss profit is going, kitana tex pay krna hoga.p[er days 200/house rent electric charge 6 mialas ki payment production 2000/ ka hai gst kitna hoga

  16. GST KANUN MA 2000000/- TAK KA TURNOVER VALOKO GST REGISTRATION NAHI KARANA HOGJ. KINTU GOVERNMENT OFFICE VALA GST BILL MANGATA HAI. UNKO GOVERNMENT KE AUR SA KAY ORDER DEYA GAYA HAI. BABULAL MAHAJAN

  17. Sir ji
    Mobile recharge & accessories
    Jisme income up to maximum 1 lakh par year hone par GST number Lena higa kya

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here